Bhabhi Ne Chudwaya Pati Ki Marji Se

मेरी भाभी का नाम नगमा है और वो लखनऊ की रहने वाली है और उनके बूब्स का आकार 38 और उनकी गांड 40 इंच की है, उनकी उम्र करीब 25 की साल की है और उनका एक तीन साल का बच्चा भी है, लेकिन फिर भी वो बहुत सेक्सी लगती है, क्योंकि जब मैंने पहली बार उन्हें देखा तो में देखता ही रह गया। दोस्तों नगमा की चुदाई करने में उसके पति जावेद ने मेरी पूरी मदद की थी। दोस्तों नगमा बहुत ही सुंदर और सेक्सी औरत है, जावेद ने मुझे नगमा की बहुत सारी तस्वीरे भेज दी और फिर हमने एक दूसरे से बात की और फोन पर पता कर लिया कि वो लोग लखनऊ में ही रहते थे और एक ही परिवार में सब लोगों के रहने की वजह से यह हमारा काम उनके घर पर नहीं हो सकता था तो जावेद ने मुझे मुंबई बुला लिया था और वो लोग भी मुंबई आ गए थे और हमारी पहली मुलाक़ात वही मुंबई एयरपोर्ट पर हुई थी, हमने शनिवार और रविवार दो दिन मिलने का प्रोग्राम रखा था और में सुबह सुबह की ट्रेन पकड़कर मुंबई पहुंच गया, जो सूरत से बहुत पास में है और उनकी 11 बजे की फ्लाईट थी, इसलिए में उन्हें लेने एयरपोर्ट पर पहुंच गया। अब में नगमा से मिलने का बहुत इंतज़ार कर रहा था, तब तक जावेद की पीछे से आवाज़ आई। तभी मैंने पीछे मुड़कर देखा तो जावेद अपनी बीवी नगमा और बच्चे के साथ खड़ा हुआ था, उसके हाथ में एक सूटकेस था और नगमा ने एकदम टाईट बुरखा पहना हुआ था, जिसमें उसके 38 इंच के बूब्स पूरे टाईट बड़े आकर के दिख रहे थे, उसकी आखें क्या नशीली थी? हम एक दूसरे से गले मिले और हम फिर वहां से होटल के लिए निकल पड़े।

अब हम वहीं से एक अच्छी होटल में चले गये, जो एयरर्पोट के पास में ही थी और फिर जावेद ने हमारे लिए वहां पर दो रूम बुक करवाए। फिर उसके बाद हम अपने अपने रूम में चले गए और करीब आधे घंटे के बाद हम सभी फ्रेश होकर लंच के लिए रेस्टोरेंट में चले गये और वहीं पर हमने लंच करते करते मैंने पहली बार नगमा से बातचीत करना चालू किया, नगमा ने उस समय काले कलर का टॉप पहना हुआ था और सफेद कलर की नीचे स्कर्ट जैसी चीज़। फिर मैंने बहुत ध्यान से देखा कि उसके बड़े आकार के बूब्स अब उसके उस टॉप से बाहर निकलने को एकदम बैताब थे, उसने टॉप के अंदर गुलाबी कलर की ब्रा पहनी हुई थी, जो कि मुझे पूरी साफ साफ नज़र आ रही थी और उस समय हम दोनों एक दूसरे के सामने बैठे हुए थे और मेरी नज़र तो उसके बूब्स पर ही टिकी हुई थी और इस बात का जावेद और नगमा दोनों को पता था। फिर हमने खाना खत्म किया और अब हम अपने रूम में गये, वहां पर पहुंचने के पांच मिनट के बाद ही जावेद मेरे रूम में आया और उसने मुझसे कहा कि तुम भी मेरे कमरे में आ जाओ। फिर में उसके साथ उसके कमरे में चला गया और तब मैंने देखा कि नगमा अपनी टॉप के एक साईड से अपने बूब्स को बाहर निकालकर वो अपने बच्चे को दूध पिला रही थी और उससे भी ज्यादा गोरा उसका बूब्स और उसके बूब्स जैसे ही बड़े उसके निप्पल थे। फिर जावेद ने मुझसे कहा कि तुम लोग मज़े करो, में नीचे बार में बैठा हूँ और अब वो इतना कहकर बाहर से रूम को लॉक करके चला गया। फिर नगमा ने भी थोड़ी देर में अपने बच्चे को दूध पिलाकर सुला दिया और फिर वो बेड पर आ गई, लेकिन अब वो थोड़ा सा शरमा रही थी तो मैंने ही पहले आगे बढ़ना शुरू किया और अब में उसे किस करने लगा। कुछ देर बाद वो भी मेरा साथ देकर मुझे किस कर रही थी, मेरी ज़ीभ को पूरा अंदर ले रही थी और में उसके बड़े आकार में मुलायम बूब्स को दबा रहा था और फिर मैंने उसके टॉप को उतार दिया, जिसकी वजह से वो अब उस गुलाबी कलर की ब्रा में मेरे सामने थी और वो क्या मस्त सेक्सी लग रही थी। मैंने उसके बूब्स को दबाते दबाते उसकी ब्रा को भी उतार दिया और वो मेरे लंड को कपड़ो के ऊपर से ही सहला रही थी, में उसके बूब्स को चूसने, निचोड़ने लगा और काट भी रहा था। उसके दोनों बूब्स से एक एक करके उनका दूध पी रहा था। तभी थोड़ी देर बाद उसने मुझसे लंड को बाहर निकालने के लिए कहा और में तुरंत खड़ा हो गया और में उससे बोला कि आप ही निकाल दो और अब उसने मेरी जींस को खोल दी और मेरी टी-शर्ट को भी निकाल दिया। अब मेरी अंडरवियर से लंड पूरा बाहर निकल रहा था और उसने फटाक से मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और फिर धीरे धीरे ऊपर नीचे करने लगी और साथ साथ उसने मोनिंग भी करना चालू कर दिया। दोस्तों वाह क्या मस्त मोनिंग कर रही रही थी, वो मुझे आज तक इतना अच्छा अहसास नहीं मिला, में भी लेट गया और उसकी मोनिंग अब भी चालू थी।

फिर मैंने उसकी चूत को चाटने के लिए उसके दोनों पैरों को फैला दिया और अपना पूरा मुहं अंदर घुसा दिया। तब मैंने महसूस किया कि उसकी चूत एकदम फूली फूली सी और साफ बिल्कुल कोमल थी और मैंने करीब दस मिनट तक उसकी चूत को चाटने, चूसने का मज़ा लिया और में उंगली भी कर रहा था, जिसकी वजह से वो उतेज़ित हो रही थी और आअहहईई उफ्फ्फफ्फ्फ़ की आवाज़े निकाल रही थी, वो अब पूरे जोश में थी और उसने अब मेरे सर को अपनी चूत पर दबाना शुरू किया और वो मुझसे कहने लगी, उफ्फ्फफ्फ्फ्फ़ आअह्ह्ह्ह हाँ थोड़ा और चूसो आईईईई हाँ मज़ा आ गया, ज़ोर से चूसो ऊउईईईईईईइ माँ हाँ तुम खा जाओ इसको और अब मैंने महसूस किया कि वो अब झड़ने वाली थी। फिर मैंने उससे उसकी चूत पर दारू डालने को कहा और उसने वैसा ही किया और फिर में उसकी चूत को ज्यादा ज़ोर ज़ोर से चाटने लगा और दारू भी पी रहा था, इतने में उसकी चूत का पानी और दारू दोनों मिक्स होने लगे और में वो पूरा पानी पी गया, उसका वाह क्या स्वाद था और फिर हमने एक दूसरे को बहुत जमकर किस किया और अब में अपने लंड को बूब्स के बीच में डालकर उसके बूब्स को चोदने लगा, उसके बूब्स को चोदते समय दूध निकल रहा था, जिसकी वजह से उसकी पूरी छाती गीली हो चुकी थी।

अब मैंने थोड़ी दारू उसके बूब्स पर भी गिराई और फिर उसके पूरे बदन को चाटने लगा, वो जोश में आकर पागल हो गई थी और कह रही थी, सेम मुझसे बस अब नहीं रहा जाता, उफ्फ्फ्फ आह्ह्हह्ह प्लीज डाल दो मेरी चूत में। अब मैंने भी देर ना करते हुए उसके दोनों पैरों को फैला दिया और उसकी चूत के मुहं पर अपना लंड रख दिया और फिर मैंने एक जोरदार झटके के साथ अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया, जिसकी वजह से उसके मुहं से ज़ोर की आवाज़ निकल आई, आहह्ह्ह्ह ऊफफ्फ्फ्फ़ प्लीज थोड़ा धीरे धीरे करो, सेम मुझे बहुत दर्द हो रहा है। अब में अपने लंड को चूत में बहुत धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा था और कुछ देर बाद मैंने अपनी स्पीड को बढाई और मैंने करीब 15 मिनट तक उसे उस पोज़िशन में चोदने के बाद मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और सोफे पर बैठकर उसे चोदने लगा और मैंने देखा कि उसके बूब्स वाह क्या मस्त उछल रहे थे, 10 से 15 मिनट के बाद में उसकी चूत में ही झड़ गया और मैंने महसूस किया कि तब तक वो दो बार झड़ चुकी थी। अब मैंने उसे वही सोफे पर घोड़ी बनाया और अब में उसे डॉगी स्टाईल में चोद रह था और वो ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी और उतेज़ित हो रही थी, आहह्ह्ह उईईईईई सेम चोदो मुझे हाँ और ज़ोर से चोदो मुझे आईईईईईई और करीब आधे घंटे की लगातार चुदाई के बाद हम बेड पर आ गए और मेरा वीर्य अभी निकला नहीं था, लेकिन उसकी चूत पूरी गीली थी, हम अब 69 की पोजीशन में आ गए और अब हम एक दूसरे को पागलों की तरह चूसने लगे  और करीब 15 मिनट के बाद मैंने उसकी गांड मारने को कहा। तब उसने मुझे बताया कि उसकी गांड आज तक कभी नहीं मरवाई है, उसे ऐसा करने में बहुत दर्द होगा। मैंने उससे कहा कि उस बात की तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो, बस तुम मेरा पूरा पूरा साथ दो, देखना कुछ देर के बाद तुम्हें भी बहुत मज़ा आएगा और मैंने उससे क्रीम लेकर आने को कहा औरे वो उठकर गई और अपने बेग से क्रीम लेकर आ गई। फिर मैंने उसकी गांड के छेद पर बहुत सारा क्रीम लगाया और फिर मेरे लंड पर लगाया और अब मैंने लंड को उसकी गांड के छेद पर सेट करके ज़ोर से धक्का दे दिया, जिसकी वजह से सुपाड़ा उसकी गांड में चला गया और वो उस दर्द की वजह से बहुत ज़ोर से चिल्लाई और वो बोली उफ्फ्फफ्फ्फ़ आहहह मुझे बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज अब इसे बाहर निकालो आईईईइ में मर जाउंगी।

फिर मैंने उससे बोला कि पहली बार में थोड़ा दर्द होता है, तुम थोड़ा मेरा साथ दो और अब में धीरे धीरे धक्के देकर लंड को अंदर डालने लगा और वो लगातार उस दर्द की वजह से चिल्ला रही थी। करीब दो मिनट के बाद उसका दर्द थोड़ा कम हुआ और फिर मैंने स्पीड बढ़ा दी और उसकी गांड को धक्के देकर चोदने लगा और पूरे आधे घंटे से ज्यादा मैंने उसकी गांड चोदी होगी। दोस्तों में अब उसकी चूत में ऊँगली कर रहा था, जिसकी वजह से वो पागल हो चुकी थी और आहहहह उफ्फ्फ्फ़ माँ मर गई आईईईईई पूरे रूम में फच फच की आवाज़े आ रही थी। अब में भी झड़ने वाला था, तब उसने मुझसे बोला कि मुझे तुम्हारा रस पीना है। दोस्तों मैंने उसके कहने पर तुरंत अपना लंड उसकी गांड से बाहर निकाल लिया और अब उसने लंड को झट से मुहं में लेकर चूसना शुरू किया और कुछ ही देर बाद मैंने उसके मुहं में अपना पूरा वीर्य निकाल दिया और वो पूरा पी गयी, लेकिन कुछ ही देर में मैंने महसूस किया कि वो अब पूरी तरह से थक चुकी थी और उसके साथ साथ में भी। हम दोनों ऐसे ही लेट गये, में उसके बूब्स को अपने मुहं में लेकर लेटा हुआ था और हम दोनों सो गये। कुछ देर बाद जावेद ने दरवाजा बजाया। अब हमने कपड़े पहने और मैंने टाईम देखा तो तब 8 बज रहे थे। दोस्तों मैंने देखा कि नगमा ने उठकर दरवाजा खोलने के लिए जब चल रही थी तो वो अपने पैर फैलाकर चल रही थी, उसकी पूरी चाल अब बदल चुकी थी, क्योंकि मैंने उसकी बहुत जमकर चुदाई की थी और जिसकी वजह से उसकी गांड अभी भी दुख रही थी।

फिर जावेद अब अंदर आ गया था और में अब भी वहीं पर उसके बेड पर लेटा हुआ था। तभी उसने मुझसे पूछा कि क्यों तुम्हें कैसी लगी मेरी नगमा? तो मैंने उसे जवाब दिया कि वो तो तू खुद अपनी बीवी की गांड देख ले तुझे अपने आप पता चल जाएगा। दोस्तों क्योंकि ताबड़तोड़ चुदाई की वजह से नगमा की गांड अब भी बहुत दर्द हो रही थी, इसलिए हमने रूम में ही खाना मंगवा लिया और फिर वहीं पर हम सभी ने एक साथ बैठकर खाना खाया और उसके कुछ देर बाद जावेद उठकर मेरे रूम में सोने चला गया और हम दोनों को वहीं पर छोड़ गया। हम दोनों ने उस पूरी रात को बहुत जमकर चुदाई की और सेक्स के पूरे पूरे मज़े लिए। उसकी वजह से नगमा की चूत अब एकदम लाल हो गई थी और उसके बूब्स पर कई जगह मेरे काटने की वजह से मेरे दांत के निशान थे, हमने पूरी रात जोश में आकर सेक्स किया और बाथरूम में जाकर नहाने के टब में  भी हमने सेक्स किया, जिसका उसे बहुत मज़ा आया और वो बहुत खुश और पूरी तरह से संतुष्ट थी, क्योंकि मैंने उसे ठंडे पानी में भी जोश में लाकर पूरी तरह से गरम किया। फिर उसने मुझसे बोला कि सेम तुमने आज तक की सबसे बड़ी खुशी मुझे दे दी है।।