bhaiya fir se tyar

bhaiya fir se tyar मैं आज अपने मायके आ गई, सोचा कि कुछ समय अपने भाई और माता पिता के साथ गुजार लूँ। मेरी माँ और पिता एक सरकरी विभाग में काम करते हैं, भैया कॉलेज में पढ़ता है। आप जानते हैं ना चुदाई एक...
Continue reading »

minal se maina ban gayi part 2

minal se maina ban gayi part 2 “ओह … मीनू … सच कहता हूँ मैं इन तीन दिनों से तुम्हारे बारे में सोच सोच कर पागल सा हो गया हूँ। लगता है मैं सचमुच ही तुम्हें पर … प्रेम … ओह … चाहने लगा हूँ।...
Continue reading »

minal se maina ban gayi part 1

minal se maina ban gayi part 1 मैं बी.ए. में पढ़ रही हूँ। पिछले सावन तक तो मेरा नाम मेरा नाम मीनल ही था। लेकिन पिछले सावन की उस बारिश भरी रात में नहाने के बाद तो मैं मीनल से मैना ही बन गई हूँ।...
Continue reading »

chaska chachi ka

chaska chachi ka मैं और पवन दोनों बहुत सालों से दोस्त हैं। आज तो यह भी याद नहीं कि हम दोनों पहली बार कब और कैसे मिले थे। पर दोस्ती पक्की थी तो बस अभी तक हम दोनों एक साथ जिंदगी के मज़े ले रहे...
Continue reading »

ab control nahi hota

ab control nahi hota मैं अपने चाचा जी के साथ रहता था, घर में चाचा, चाची और उनकी बेटी जिसका नाम शशि है, रहते थे। वो जवान हो गयी थी, में उसका दीवाना था। उसके वक्ष 34 के आसपास होंगे और गाण्ड भी इतनी ही।...
Continue reading »

mami, meri biwi

mami, meri biwi मैं अपने मम्मी-पापा का इकलौता बेटा हूँ, लेकिन एक गरीब परिवार होने के नाते हम एक छोटे शहर राजपुरा में दो कमरे वाले घर में ही रहते हैं। पापा राजपुरा में ही एक कारखाने में सुपरवाइजर हैं और मम्मी एक स्थानीय स्कूल...
Continue reading »

purani sharab, nasha jyada

purani sharab, nasha jyada एक दिन मेरे पिता जी दिल्ली आये और एक रात के लिए मेरे पास रुके। रात को उन्होंने जब वो खाना खाया तो बहुत दुखी हुए। अगले दिन पिता जी के जाने के बाद रात को घर से फोन आया और...
Continue reading »